कहीं कब्रिस्तान में तो कहीं पानी के भीतर बने हैं होटल

बर्फ के पानी,दुनिया के अनोखे रहस्य

दुनिया में न जाने कितने ऐसे स्थान है जो रहस्यों भरे हैं, कितने ऐसे स्थान है जो अनोखे हैं, एकदम अलग. कुछ स्थान प्रकृति द्वारा बनाये गए हैं और कुछ हम इंसानों द्वारा. तो आइये आज हम आपको दुनिया के कुछ ऐसे ही अनोखे होटल्स के बारे में बताते हैं. जी हाँ सही सुना आपने हम बात कर रहे हैं कुछ ऐसे होटल्स की जो आपको देखने में कहीं से भी होटल्स का एहसास नहीं कराएँगे.

 आइस होटल, स्वीडन

स्वीडन का जाना माना आइस होटल पूरा बर्फ़ से निर्मित होटल है. लेकिन यह होटल हर साल बनाया जाता है. यह होटल ४० हज़ार टन बर्फ का इस्तेमाल करके बनाया जाता है. यह होटल स्वीडन की नेशनल रिवर टॉर्न से ४० हज़ार टन बर्फ से दो महीने की मेहनत के बाद बनाया जाता है. इसके साथ ही होटल के अन्दर नेचर और पशुओं की कृतियों की नक्काशी भी की जाती है. इस होटल को देखने काफी सैलानी स्वीडन जाते हैं.

हाइड्रोपोलिस अंडरवाटर होटल, दुबई

क्रीसेंट हाइड्रोपोलिस अंडरवाटर होटल दुबई के मशहूर अंडर-वॉटर होटलों में से एक है। इस होटल में अक्सर सेलिब्रिटीज और शाही परिवार अपना निवास बनाते थे. इस होटल की ख़ास बात यह है कि कमरों से लेकर डाइनिंग एरिया, मीटिंग हाल और इंडोर गेमिंग एरिया सभी कुछ ग्लास से बना हुआ है. जिस वजह से वजह इस होटल से समुद्र के अंदर मौजूद मछलियों और बाकी जीवों को देखा जा सकता है। इस होटल में ढाई सौ आलीशान स्वीट मौजूद हैं.

आपके लिए एक और बेहतरीन कहानी :-

चंदेरी का किला फतह करने को बाबर की सेना ने रात भर में काट डाला पूरा पहाड़

जिराफ़ मैनर, नैरोबी  

केन्या के नैरोबी में जिराफ़ मैनर नाम का यह होटल एक सौ चालीस एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है. आप सोच रहे होंगे कि इसका नाम जिराफ़ मैनर क्यूँ पड़ा, दरअसल इस होटल की हाइट जिराफ़ के जितनी है और इतना ही नहीं इस होटल के आसपास जिराफ़ अक्सर नज़र आ जाते हैं. कभी कभी तो रूम के अन्दर तक पहुँच जाते हैं. और वहां रहने वाले टूरिस्ट भी अपने हाथों से खाना खिलाकर एक अलग आनंद का अनुभव करते हैं. जिराफ़ मैनर के आसपास जंगल का अनुभव लेने के साथ कई तरह के जानवर और पक्षियों को देखने का लुत्फ़ भी उठाया जा सकता है.

कैकस्लाउटनेन आर्कटिक रिजॉर्ट, फ़िनलैंड  

फिनलैंड में स्थित है यह अनोखा रिजॉर्ट. इस रिजॉर्ट का नाम है कैकस्लाउटनेन आर्कटिक रिजॉर्ट. इस होटल की ख़ास बात यह है कि यहाँ के इग्लू के आकार वाले कमरों से बाहर का नजारा देखा जा सकता है. ये इग्लू ग्लास के बने होते हैं. इतना ही नहीं सर्दियों में यहां बर्फ से कई प्रकार की इमारतों का निर्माण खुद-ब-खुद हो जाता है. इस रिसोर्ट का सेंटर ऑफ़ अट्रैक्शन दुनिया का सबसे बड़ा स्नो रेस्टोरेंट है.


मोंटाना मैजिका, चिली

मोंटाना मैजिका एक पेड़नुमा डिजाईन का होटल है जो की चिली में स्थित है. यह होटल पूरी तरह से लकड़ी से बना हुआ है. इतना ही नहीं इस होटल में स्पा जैसी फैसिलिटी भी मौजूद है. यह होटल एडवेंचर पसंद लोगों के लिए ज्यादा ख़ास माना जाता है. इस होटल में ट्रैकिंग, साउथ अमेरिका की सबसे लम्बी ज़िप वायर जैसी आउटडोर एक्टिविटीज का आयोजन भी किया जाता है. यहाँ आना हर टूरिस्ट की ख्वाहिश होती है लेकिन यहाँ आने के लिए आपको थोड़ी स्पेनिश आनी चाहिए क्यूंकि इस जगह अंग्रेजी या अन्य भाषा बोलने वाले लोग काफी कम है।

आप इन पे भी नज़र डाल सकते हो :-

जानिए वो 10 खूबियाँ जो नरेन्द्र मोदी को बनाती हैं सबसे सफल नेता

कब्र वाला होटल, अहमदाबाद

पढ़कर थोड़ी हैरानी हो रही होगी आपको. सुननें में थोड़ा अजीब लगता है लेकिन अहमदाबाद के खानपुरा इलाके में लकी नाम का यह होटल कब्रिस्तान के बीच में बना है. इस होटल में दो कब्रों के बीच रखे टेबल पर बैठ लोग साउथ इंडियन खाने का लुत्फ़ उठाते हैं. इस होटल में हर टेबल के दोनों तरफ सीमेंट के कब्र बने हैं, जिनपर रोज गुलाब चढ़ाया जाता है। इस होटल में करीब २० कब्रें हैं और इन कब्रों को हरे रंग से पेंट करके चारो तरफ लोहे की रौड से घेर दिया गया है. रात के समय इन कब्रों के आसपास मोमबत्तियां जला दी जाती है।

इस वक्त परिवार के साथ आकर लोग साउथ इंडियन भोजन का आनंद लेते हैं। रेस्तरां के हॉल के बीच एक पेड़ भी है जो उसकी छत होकर बाहर निकला हुआ है। इस होटल के मालिक मालिक कृष्ण कुट्टी नायर ने बताया कि इस होटल को बने हुए 50 साल से ऊपर हो गए। बताया जाता है कि यह कब्रिस्तान 16वीं शताब्दी के एक सूफी संत के परिवार वालों या सहयोगियों का है। 50 साल पहले के.एच. मोहम्मद नामक एक आदमी ने कब्र के सामने पहले एक चाय की दुकान खोली थी. उसके बाद कब्रिस्तान को ही घेर कर होटल में तब्दील कर दिया गया था। हैरत की बात यह है कि इतने दिनों से यह अजीबोगरीब होटल चल रहा है लेकिन शहर या गुजरात के बाहर बिरले ही मिलेंगे जिन्हें इस होटल के बारे में पता है।

प्लेसियो डे साल, बोलिविया

बोलिविया का होटल प्लेसियो डे साल दुनिया के अनोखे होटलों में से एक है। आप जानते हैं इस होटल की ख़ास बात क्या है, यही कि यह होटल अंदर से बाहर तक नमक से बनाया गया है। यहाँ की दीवारें, फ्लोर, सीलिंग यहां तक कि टेबल, कुर्सी, बेड सभी नमक से बना होता है. यहां स्पा की भी बेहतरीन सुविधा है। इस होटल से ऊंचे-ऊंचे पहाड़ों के बीच सूरज डूबने का नजारा देखना एक अच्छा एक्सपीरियंस माना जा सकता है।

 

सीवेज पाइप होटल, आस्ट्रिया

सीवेज पाइप होटल, जैसा कि नाम से समझ आता है की यह होटल सीवेज पाइप में बना हुआ है। यह होटल ऑस्ट्रिया के दास पार्क में २ मीटर लम्बे सीवेज पाइप में बना हुआ है। इसमें एक बेड, छोटी अलमारी और एक स्लीपिंग बैग होता है. इसके साथ ही यहाँ लाइट की व्यवस्था है और खूबसूरत फ्लोरिंग  भी फ्लोरिंग पर डिफरेंट कलर की लाइट का इफ़ेक्ट डाला गया है।

तो यह थे कुछ अनोखे होटल जिसके बारे में आपने शायद ही कभी सुना होगा. तो अब तो आपको जानकारी मिल ही गयी है. तो क्यूँ न आप अपना अगला टूरिस्ट डेस्टिनेशन इन्ही किसी होटलों में से चुनें.

1 thought on “कहीं कब्रिस्तान में तो कहीं पानी के भीतर बने हैं होटल”

Leave a Reply