इस गांव की हर महिला लंबे बालों वाली रुपेंजल राजकुमारी से कम नहीं

जानवरों के नाम,रोमियो राजकुमार,मुंगेर जिला,दुनिया के अनोखे रहस्य

आप सब ने रुपेंज़ल राजकुमारी की कहानी तो सुनी होगी, जी हाँ वही राजकुमारी जिसके बाल बहुत लम्बे थे, इतने लम्बे कि कोई भी उस बालों की रस्सी बनाकर नीचे ऊपर चढ़ उतर सकता था. आज हम आपको एक ऐसे ही दिलचस्प गांव की ओर ले चलते हैं जहाँ एक नहीं न जाने कितनी रुपेंज़ल मिलेंगी आपको.

चीन की रुपेंज़ल

चलिए रुख करते हैं चीन के गुआंगशी प्रांत की ओर. इस प्रान्त के हुआंगलुओ गांव में रहने वाली महिलाओं के बाल तीन से सात फीट तक लंबे होते हैं. कई महिलाओं को हमेशा बालों को लेकर कुछ न कुछ शिकायत रहती ही है. लेकिन चीन के इस गांव की महिलाओं को इस तरह की कोई शिकायत नहीं है.

दरअसल इस गांव में रहने वाली याओ जनजाति दो सौ वर्ष पुरानी हैं. जिसमें साठ महिलाएं हैं. डेलीमेल के अनुसार, यह महिलाएं याओ जाति की हैं, जो अपने काले, चमकदार और लंबे बालों के लिए पूरे चीन में अपनी अलग पहचान बनाती हैं. इस गांव में सबसे छोटे बाल तीन फीट के हैं वहां सबसे लंबे बाल सात फीट के हैं. वहां ऐसा माना जाता है कि जब कोई लड़की अठारह साल की होती है तो उसके बाल काटते हैं जिसका मतलब होता है कि वो जवान हो गई है और शादी के लायक भी. उसके बाद फिर कभी बाल नहीं काटे जा सकते. इस जनजाति की खासियत महिलाओं के लंबे बाल के अलावा इनकी खूबसूरती भी है.

चावल के माड़ से धोती हैं बाल

इस गांव की महिलाओं की पहचान न केवल इनकी खूबसूरती और बाल हैं बल्कि ये अपने अलग लाल रंग कपड़े भी हैं. ये महिलाएं अपने बालों को किसी शैंपू से नहीं बल्कि चिपचिपे चावल के पानी से धोती हैं. इसी गांव की एक महिला का नाम सबसे लंबे बालों के तौर पर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज है. महिला का नाम झी क्यूपिंग है. दो हज़ार चार में इसके बालों की लंबाई १८ फीट और ५.५४ इंच नापी गई थी.

 

भारत के रुपेंज़ल  

हमारे देश में भी ऐसी कहानियां है. बागपत की गूंगा खेड़ी गांव की रहने वाली लड़की के बाल उसके कद से २ फुट लम्बे है. इस युवती का नाम प्रियंका चौधरी है यह २४ वर्ष की हैं. इन्होने नेचुरल प्रोडक्ट्स से अपने बालों को लम्बा किया.

प्रियंका के बालों की लम्बाई अब छह फीट हो गई है और उसका सपना बहुत जल्द अपना नाम गिनीज बुक वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराना है. प्रियंका ने बताया के उसे बचपन से ही बाल लम्बे करने का शौक था और बचपन से ही वह अपने बालों की केयर करती चली आ रही हैं. जिसके चलते उसके बाल उसकी हाइट से भी ज्यादा लम्बे हो गए हैं और अब प्रियंका का सपना अपना नाम गिनीज बुक वर्ल्ड में दर्ज कराना है.

ये भी पढ़ें :

न आकार न प्रकार ऐसा है महादेव के चमत्कारों का संसार

पुरुषों के भी हैं लम्बे बाल

बिहार के मुंगेर जिले के ५५ वर्षीय सकलदेव टुड्डू बालों की जटा के इतने शौकीन हैं कि उन्होंने अपनी जटा पांच फीट तीन इंच तक लंबी कर ली है. सकलदेव की इस विशेषता के कारण लोग उन्हें अब महात्मा कहने लगे हैं. टेटिया क्षेत्र के ढंगडा गांव के रहने वाले सकलदेव टुड्डू शुरू से ही लंबे बालों के शौकीन रहे हैं. २२ साल की उम्र में उन्होंने एक साल तक अपने सिर के बाल नहीं कटवाए थे. ग्रामीण अशोक यादव का कहना है कि एक दिन जब वह सुबह सो कर उठे तो उनके सिर के बाल में जटा बनी हुई थी. बाल में जटा देखकर लोग उन्हें शिव का रूप मानने लगे. इसके बाद लोगों ने भी उन्हें बाल कटवाने से मना कर दिया. तब से लेकर आज तक सकलदेव ने अपने बाल नहीं कटवाए. सकलदेव टुड्डू वन विभाग में कार्यरत हैं. सकलदेव टुड्डू ने कहा कि बाल इतने बड़े हो गए हैं कि इन्हें कपड़े के बने रस्सी से बांधकर सिर के ऊपर रखना पड़ता है.

अरे आप क्या सोचने लगे…. यही न कि काश मेरे बाल भी इनके जैसे लम्बे हो. चलिए थोड़ी मेहनत करके देखिये शायद आपकी मेहनत रंग लाये.

Leave a Reply