Nature

दुनिया के कुछ ऐसे स्थान जहाँ आपका जाना है सख्त मना

bharat ke vaigyanik,फतेहपुर सीकरी का इतिहास,एरिया 51,जहांगीर का इतिहास,दुनिया के
mm
Written by Rahul Ashiwal

मनुष्य बहुत जिज्ञासु होता है और लगभग हर व्यक्ति हर उस जगह को जाकर खुद देखना चाहता है जहां एक आम व्यक्ति का जाना  सख्त मना है। दुनिया में बहुत सी ऐसी जगह है जहां जाना  प्रतिबंधित है। कुछ जगह वहां रहने वाले जीव तथा वातावरण को बचाने के लिए प्रतिबंधित की गयी है तो कुछ जगह पर जाना इसलिए मना है क्योंकि वहां गुप्त सैन्य संस्थान है या वहां जाने पर आपकी जान को खतरा भी हो सकता है। जी हां दोस्तों दरअसल आज हम कुछ ऐसी ही अनोखी जगहों के बारे में आपको बताएंगे जहां आप कभी नही जा सकते। तो आइए सफर शुरू करते है।

1. स्नेक आइलैंड


ब्राज़ील के शहर ‘साउ पाउलो’ से लगभग 144 कि.मी. की दूरी पर स्थित है द्वीप ‘क़्वेमादा ग्रांदे’ एक ऐसा द्वीप जिसे ‘स्नेक आइलैंड’ के नाम से जाना जाता है। यह छोटा सा द्वीप दुनिया के सबसे जहरीले सांपो से भरा हुआ है। 110 एकड़ में लगभग इस द्वीप 4000 से ज्यादा सांप है, मतलब हर 5 स्क्वायर मीटर पर एक सांप। यह कोई ऐसे वैसे सांप नही बल्कि यह दुनिया के सबसे जहरीले सांप ‘गोल्डन लांसहेड’ का घर है। यह सांप इतना जहरीला है कि इसका जहर इंसान का मांस तक गला सकता है। इन सांपो की वजह से ही कोई यहां जाना तो दूर बल्कि यहां जाने की सोच भी नही सकता। ब्राजील ने इस द्वीप पर 1909 में एक लाइटहाउस बनवाया ताकि जहाजों को इस द्वीप से दूर रखा जाए। इस लाइटहाउस को एक परिवार चलाता था, लेकिन 1920 में उस परिवार के सभी लोग मृत पाए गए क्योंकि उनके घर में गोल्डन लांसहेड सांप घुस आया था। इस द्वीप के खतरे को देखते हुए ब्राजील सरकार ने इस द्वीप पर जाने पर पाबंदी लगा दी।

ये भी पढ़ें :

आइए जानते हैं नादिरशाह की जिल्लत भरी मौत की कहानी

2. माउंट विदर इमरजेंसी ऑपरेशन्स सेंटर


माउंट विदर इमरजेंसी ऑपरेशन्स सेंटर यूनाइटेड स्टेट की एक सिविलियन कमांड फैसिलिटी है। जो युनाइटेड स्टेट के वर्जिनिया में स्थित है। यह वह स्थान है जहां किसी भी बड़ी आपदा के समय जैसे कि न्युक्लियर अटैक के समय यहां युनाइटेड स्टेट के सबसे वरिष्ठ पद के सरकारी और सैनिक अफसरों को सुरक्षित करने के लिए लाया जाएगा। यहां पर एक अंडर ग्राउंड कॉम्प्लेक्स मौजूद है जो किसी भी आपदा को झेल सकता है। यह कॉम्प्लेक्स हर सुविधा में आत्मनिर्भर है। यहां हॉस्पिटल, पानी का जलाशय, इलेक्ट्रिक पावर प्लांट और रेडियो कम्युनिकेशन सिस्टम जैसी सभी तकनीक मौजूद है। यहां की सारी सुविधाएं 200 लोगों को लगभग 30 दिन तक जीवित रख सकती हैं। इसीलिए किसी का भी यहां अनाधिकारिक प्रवेश वर्जित है।

3. मेट्रो-टू


मेट्रो-टू मॉस्को रूस में मौजूद एक गुप्त अंडर ग्राउंड मेट्रो रेल सिस्टम का नाम है ,जो मॉस्को के पब्लिक मेट्रो के समानांतर चलता है। इस मैत्री का निर्माण “जोसेफ स्टालिन” के समय शुरू हुआ और इसका नाम रूस की सीक्रेट एजेंसी “के.जी.बी” ने पहले “डी -6” रखा था। इस मेट्रो की लंबाई मॉस्को की पब्लिक मेट्रो से कहीं ज्यादा है। मेट्रो-2 की लाइन रूस के प्रेजिडेंट ऑफिस को महत्वपूर्ण ठिकानों से जोड़ती है। जोसेफ स्टालिन ने इस मेट्रो का निर्माण आपातकाल की स्थिति में सुरक्षित स्थान पर पहुचने के लिए करवाया। मेट्रो-2 की लाइन ज़मीन से लगभग 50मी. से 200मी. की गहराई में बनाई गयी। लेकिन आज भी सोचने वाली बात यह है कि रूस की सरकार इस तरह की मेट्रो लाइन होने से साफ़ इनकार करती है।

4. नॉर्थ सेंटिनल आइलैंड (भारत)


भारत में अंडमान निकोबार द्वीप समुह पर मौजूद यह द्वीप सेंटिनलिस लोगों का घर है। यहां एकमात्र ऐसे लोग हैं जो आज भी पाषाणकाल युग का जीवन जी रहे है। और किसी भी आधुनिक टेक्नोलॉजी से वाकिफ़ नहीं है। इन्हें बाहर के लोगों का यहां आना बिल्कुल पसंद नहीं है और आज तक इनसे संपर्क बनाने के सभी प्रयास घातक साबित हुए क्योंकि जब भी कोई इस द्वीप के नजदीक जाता है तो यह उस पर तीर और भालों से प्रहार करना शुरू कर देते है। ऐसी ही घटना आखरी बार 2006 में हुई जब दो मछुआरों की नाव गलती से बहकर इस द्वीप के किनारे लग गयी और यहां रहने वाले लोगों ने उन पर हमला कर उन्हें जान से मार डाला। इसलिए यहां कोई नही जाता।

5. एरिया-51


यू.एस. में स्थित यह मिलिट्री बेस हमेशा अपने रहस्यमयी घटनाओं के लिए काफी चर्चा में रहा है। यू.एस. मिल्ट्री का कहना है कि इस बेस का उपयोग नवीनतम सैनिक उपकरणों और मॉडर्न एयरक्राफ्ट का परिक्षण करने के लिए किया जाता है। लेकिन इसके आस पास की कई सुरक्षा और इसके आस-पास आने के कड़े प्रतिबन्ध को देखते हुए कुछ लोग यह भी मानते हैं कि यहां पर दुर्घटनाग्रस्त यू.एफ.ओ.(उड़न तश्तरी) रखा हुआ है और यहां पर यू.एफ.ओ के मृत एलियन पर प्रयोग किये जाते है। कारण जो भी हो, लेकिन इस एयर बेस के आस पास किसी भी आम नागरिक को आने की इजाजत नहीं है।

कुछ रोचक कहानी आप के लिए :-

तैमूर के ज़ुल्म की कहानियां, चार दिन में ख़ून से रंग डाला सारा शहर

6. वोल्ट ऑफ़ दा सीक्रेट फॉर्मूला कोका कोला

क्या आपने कभी सोचा है कोका कोला का टेस्ट बाकी दूसरी कोल्ड्रिंक्स से इतना अलग कैसे होता है? इसके पींछे एक सीक्रेट रेसिपी है। जी हां आपने बिल्कुल सही सुना एक ऐसी सीक्रेट रेसिपी जो 125 साल से गुप्त राखी गयी है और यह रेसिपी मौजूद है एक लॉकर के पीछे जिसे ‘वोल्ट ऑफ़ दा सीक्रेट फॉर्मूला’ कहा जाता है। अगर आपके पास एक मोटी रकम है तो शायद एक बार को आप इस लॉकर के अंदर जा सकते हैं पर इस सीक्रेट फॉर्मूला तक आप तब भी नहीं पहुच पायंगे। क्योंकि यह वोल्ट के अंदर भी एक सुरक्षित जगह पर रखा गया है।

About the author

mm

Rahul Ashiwal

4 Comments

  • आपकी थीम बहुत अच्छी है आपके द्वारा लिखे गये आर्टिकल उससे भी अच्छे ऐसे ही लिखते रहिये

  • बहुत ही सुंदर और प्रभावी रचना की प्रस्तुति। लेखन पर आपकी अच्छी कमांड है। यह देख कर बहुत अच्छा लगा।

Leave a Comment