Nature

जानिए, संसार की नौ सबसे खतरनाक झीलों के बारे में

दुनिया का सबसे,नदी के बारे में, दुनिया के,सबसे बड़ी
mm
Written by Shweta Singh

संसार में न जाने ऐसे कितने प्राकृतिक नजारे हैं जिन्हें हर कोई देखने की तमन्ना रखता है. न जाने कितनी नदियां और कितने प्राकृतिक झरने इस संसार में है जिसे देखने से मन को एक शांति सी मिलती है. लेकिन दुनिया में कुछ ऐसे स्थान भी हैं जहाँ जाना खतरनाक हो सकता है. आइये हम आपको संसार की नौ सबसे खतरनाक झीलों के बारे में बताते हैं.

मोनो लेक, लॉस एंजिलिस

मोनो लेक कैलिफोर्निया की सबसे प्राचीन झील मानी जाती है. यह झील हमेशा से खतरनाक नहीं थी. 1941 तक यह झील काफी खूबसूरत झीलों में शुमार थी. लेकिन लॉस एंजिलिस में जैसे-जैसे विकास हुआ, इस झील में वेस्ट मटीरियल डम्प किया जाने लगा. 1990 तक इस झील में अधिक मात्रा में कार्बोनेट, क्लोराइड और सल्फेट इकट्ठा हो गया, जिसकी वजह से इस झील का पानी खराब हो गया. इसके बाद इस झील को टूरिस्ट स्पॉट की तरह इस्तेमाल करने के लिए रोक लगा दी गयी.

मोनॉन  लेक, कैमोरून

यह झील ओकू वॉल्केनिक फील्ड, कैमोरून में स्थित है. दुनिया की तीन सबसे खतरनाक झीलों में से एक है मोनॉन लेक. इस झील में कार्बन डाई  ऑक्साइड मौजूद है. और इस वजह से 1884  में 37 लोगों की मौत हो गई थी. इतना ही नहीं एक बार एक ट्रक में सवार 12 लोगों इस झील में ट्रक को साफ करने के लिए उतरे और उनकी कार्बन दी ऑक्साइड की अधिक मात्रा के कारण  मौत हो गई.

नियोस लेक, नाइजीरिया

नियोस लेक मोनॉन झील से 62 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. झील के अंदर कार्बन डाइऑक्साइड लीक होने के कारण इसका पानी कार्बोनिक एसिड में तब्दील हो गया. और इसका दुष्प्रभाव आस पास के गांवों और जीव जंतुओं पर पड़ा. इस झील के आसपास स्थित गांव के लोग और जानवरों की मौत इसी पानी के कारण हुई. झील के चारों ओर पहाड़ है, इसलिए इसका पानी बाहर नहीं बहता है, लेकिन यदि पानी बहता होता तो नाइजीरिया के कई गांव बर्बाद हो जाते.

ये भी पढ़ें :-

सुनिये इवीएम की कहानी, इवीएम की जुबानी

लेक ऑफ द ओजार्क्स, अमेरिका

लेक ऑफ द ओजार्क्स अमेरिका की तीन खतरनाक झीलों में शामिल है. इस झील में उठती लहरें इतनी ज्यादा खतरनाक है कि कोई इसमें बोट चलने की हिममत नहीं करता. लेकिन प्रशासन और लोगो की लापरवाही से यह झील दूषित हो गयी है. झील से ७ किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक रेस्टोरेंट अपना सारा वेस्ट मटीरियल और सीवेज इसी झील में डम्प करता है, जिसकी वजह से झील का पानी प्रदूषित हो गया.

बॉईलिंग लेक, डॉमिनिका

यह झील डॉमिनिका के कैरेबियन द्वीप पर स्थित है. यह झील इस पृथ्वी की दूसरी सबसे बड़ी  प्राकृतिक हॉट स्प्रिंग है. इसका तापमान १८० से १९७ डिग्री फ़ारेनहाइट के बीच में रहता है और किसी भी और किसी भी व्यक्ति के अन्दर इतनी हिम्मत नहीं है कि इसके तापमान को चेक करे. यहाँ का तापमान इतना अधिक है की झील के पानी में आप उबाल देख सकते है. इसके  तापमान को  नियंत्रित नहीं किये जा सकता क्यूंकि झील की सतह पर एक क्रैक है जिसमे से लावा बहता हुआ नदी में जाता है.

हॉर्सशू लेक, कैलिफ़ोर्निया

विशाल झीलों की नगरी के समीप ही हॉर्स शू लेक यानि झील स्थित है. यह झील नाम से जितनी मिलनसार लगती है उतनी है नहीं. दरअसल यह झील एक दबे पांव आने वाले हत्यारे की तरह है. विशाल झीलों की यह नगरी (सिटी ऑफ़ मैमथ लेक) एक सक्रिय ज्वालामुखी के ऊपर स्थित है. लेकिन सालों तक इस झील ने किसी को कोई नुक्सान नहीं पहुँचाया था. मगर लगभग २० साल पहले झील के किनारे के पेड़ मुरझा गए और नष्ट हो गए. काफी गहन अध्ययन के बाद वैज्ञानिकों ने निष्कर्ष निकला की इतने वर्षो से भूमिगत मंडलों के कूलिंग मैग्मा से सतह पर अत्यधिक मात्रा में आने वाली  कार्बनडाई ऑक्साइड के कारण ऐसा हुआ. २००६ में भी ३ लोगों ने हॉर्स शू लेक के पास की एक गुफा में शरण ली थी लेकिन वहां कार्बन डाई ऑक्साइड की उच्च मात्रा के कारण उस गुफा में ही तीनों की मौत हो गयी.

 

कराचे लेक, रूस

यह झील दक्षिण रशिया के पहाड़ों के बीच स्थित है. इस झील का रंग नीला है और यह दुनिया की खतरनाक झीलों में से एक है. १९५१ में रूस की सरकार ने इस झील को रेडियोएक्टिव वेस्ट डम्प करने के लिए इस्तेमाल किया था. इसी वजह से यह झील इतनी खतरनाक हो गई है कि यदि कोई व्यक्ति इसके पास ५ मिनट भी खड़ा हो जाए, तो इसमें से निकलने वाली रेडियोएक्टिव किरणें उसकी मौत का कारण बन जाती हैं. इतना ही नहीं १९६१ में चली तेज आंधी के कारण इसमें से निकली खतरनाक किरणों ने ५००,००० लोगों को प्रभावित किया. इस घटना की तुलना हिरोशिमा में गिराए गए बम से हुई हानि से की जाती है.

किवू लेक, शिकागो

यह झील डेमोक्रेटिक रिपब्लिक शिकागो और रमांडा के बॉर्डर पर स्थित है. इस झील में कार्बन डाई ऑक्साइड की लेयर है. झील की सतह पर बैक्टिरिया होने के कारण ५५ बिलियन क्यूबिक मीटर मिथेन गैस पैदा होती है. यह झील दुनिया की तीन डेडली झीलों में शामिल है. यदि ज्वालामुखी आ जाए तो इस झील के आसपास रहने वाले करीब दो मिलियन लोग इससे प्रभावित होंगे.

आप इनपे भी नज़र डाल सकते हो  :-

कहीं बहता है ख़ून का झरना तो कहीं रात भर चमकती है बिजली

लेक मिशिगन, कनाडा

कनाडा, यूनाइटेड स्टेट की बॉर्डर पर बनी पांच झीलों में से लेक मिशिगन सबसे खतरनाक है. जी हाँ दरअसल इस झील में हवा और पानी के तापमान में होने वाले बदलाव के कारण करंट पैदा होता है. यदि इसमें कोई जाने की कोशिश करता है तो उसकी करंट लगने से मौत हो जाती है. लेकिन अक्टूबर और नवंबर के महीने में यह झील और ज्यादा खतरनाक हो जाती है.

About the author

mm

Shweta Singh

Leave a Comment