ऐसी जेल जहां कैदी जाने के बजाय मौत को गले लगाना समझते है बेहतर

कैदी,भारत का कानून,सबसे ज्यादा,

जेल एक ऐसा  शब्द जो  अपने आप में ही डर का अहसास करा देता है। चारदीवारी के अंदर  की यह दुनिया भी खतरों से भरी पड़ी है। वैसे तो लगभग सभी जेलों में कैदियों के हालात बुरे ही होते है , लेकिन इस दुनिया में कुछ जेल ऐसी भी है जहां कभी कोई कैदी नही जाना चाहता। और अगर कोई कैदी वह चला भी जाता है तो वहां जाने से पहले मौत को गले लगाना बेहतर समझता है। ऐसी जेल जहां कैदियों का जीवन हमेशा खतरे में रहता है। दोस्तों दरअसल आज हम आपको दुनिया की सबसे खतरनाक जेलों  के बारे में बताने जा रहे है ,जहां जाने से हर कैदी के मन में ख़ौफ है। आखिर ऐसा क्या है इन जेलों में जहां हर कैदी जाने से इतना डरता है।

1.गीतारामा सेंट्रल जेल

यह जेल अफ्रीकी देश ‘रवांडा’ में है।यह एक ऐसी जेल जिसकी गिनती दुनिया की सबसे खतरनाक जेलों में की जाती है। हैरान कर देने वाली बात यह है कि इस  जेल में सुरक्षाकर्मियों द्वारा कैदियो को नही मार जाता बल्कि यहां के कैदी ही एक दूसरे की जान के प्यासे है और एक दूसरे को मारते है। माना जाता है कि इस जेल में कैदी एक दूसरे को मारकर उनकी डेड बॉडी भी खा जाते है।

आपको यह जान कर भी हैरानी होगी कि इस जेल में कैदियों की रहने की क्षमता 600 है लेकिन इसमें 7000 से भी ज्यादा कैदियों को रखा जाता है। इस जेल में जगह इतनी कम है कि कैदियों को यहां  रात-दिन खड़े-खड़े ही वक्त गुजारना पड़ता है। ज्यादातर कैदी गंदी और गीली जगह पर खड़े रहते हैं। इस वजह से ये खतरनाक बीमारियों की चपेट में भी आ जाते हैं। इस जेल में हर दिन लगभग 9  लोगों की मौत अलग-अलग बीमारियों की वजह से होती है। कई मानवाधिकार संगठन इसका विरोध करते रहे हैं, लेकिन विरोध के बावजूद कैदियों के जीवन स्तर में कोई सुधार नहीं हो पाया है।

आप इन पे भी नज़र डाल सकते हो :-

कहीं कब्रिस्तान में तो कहीं पानी के भीतर बने हैं होटल

2.अल हायर जेल

सऊदी अरब जैसे सख्त क़ानून वाले देश में है ‘अल हायर’ जेल। यह जेल मिडिल ईस्ट की सबसे खतरनाक जेल मानी जाती है। यहां कैदियों को तरह तरह से सताया जाता है और उन पर खूब जुल्म किये जाते है ,अगर कोई कैदी  गलती से भी इन जुल्मो का विरोध करता है तो उसे वही मौत के घाट उतार दिया जाता है। एक बार साल 2002 में इस जेल में आग लग गयी और लगभग 140 कैदी और कुछ सुरक्षाकर्मी मारे गए। इस जेल में कई बार कैदियों ने भागने की कोशिश भी की लेकिन लगभग हर बार नाकामयाब रहे।  सऊदी अरब मौत की सजा देने वाले देशो में से  इसका स्थान नम्बर 4 पर है। इस देश में तलवार से गर्दन काटकर मौत देने की सजा बहुत आम बात है। वजह भी यही है  कि इस देश में अपराध भी बहुत कम है।

 

3.बेंगवेंग जेल

बेंगवेंग जेल थाईलैंड में स्थित है। थाईलैंड की यह जेल ‘बैंकॉक हिल्टन’ के नाम से जानी जाती है। इस जेल में कैदियों को प्राण घातक इंजेक्शन लगाया जाता है और कैदी को यह इंजेक्शन लगाने से कुछ घण्टे पहले बताया जाता है कि उन्हें यह प्राण घातक इंजेक्शन दिया जायगा। जेल में अपनी मौत का इन्तजार कर रहे इन कैदियो को लोहे के बेड़ियो में बाँध कर रखा जाता है।  कुछ वर्ष पहले तक यहां मौत की सजा सिर काटकर दी जाती थी। इस जेल में कैदियों को यातनाओं की खबरें आती रहती हैं।

4.कैंप टूटू

यह जेल नॉर्थ कोरिया में स्थित है और इस जेल को साल 1965 में बनाया गया था। इस जेल में लगभग 50000 से ज्यादा  कैदी रहते है। यदि एक बार किसी अपराध के कारण कोई कैदी  इस जेल में आता है तो उस व्व्यक्ति की आने वाली तीन पीढियो को यहां इस जेल में उम्र कैद भुगतनी पड़ती है। इस देश के क़ानून वैसे भी पूरी दुनिया में सबसे अलग ही है ताकि अपराध को जड़ से खत्म किया जा सके। ऐसा भी माना जाता है कि इस जेल में कैदियों पर बायोलॉजिकल हथियार को टेस्ट किया  किया जाता है।

आपके लिए एक और बेहतरीन कहानी :-

जयपुर के जयगढ़ में आज भी दफ़न है बेशकीमती खजाना

5.टड़मोर जेल

सीरिया की इस जेल को डेथ वारंट के नाम से  भी जाना जाता है। आपको जानकर आश्चर्य  होगा कि इस जेल में कैदियों की मृत्यु दर सीरिया में सबसे ज्यादा है। यहां कैदियों को भीषण यातनाएं दी जाती हैं। सीरिया में वैसे भी मानवाधिकार नाम की कोई चीज नहीं है, फिर के अंदर सही गलत का भेद करने का तो सवाल ही नहीं उठता। जेल में कैदियों को सही ढंग से खाना तक नहीं दिया जाता। यहां के कैदियो के साथ बेहद खतरनाक और दर्दनाक सुलूक किया जाता है। कैदियों को मारना यहां दूसरे कैदियों द्वारा एक दूसरे को  खा जाना बहुत आम है। इस जेल में साल 1980 में प्रेजिडेंट ‘हफेज अल असद’  के आदेश पर लगभग 2400 कैदियो को एक साथ मौत के घाट उतार दिया गया।

Leave a Reply