Life

ब्राउनी और सैंडविच का प्रसाद बाँटने वाला अनोखा मंदिर

भारत के मंदिर,प्रसाद का अर्थ, अनोखी दुनिया,प्रसाद, मंदिर का इतिहास,दुनिया के अनोखे रहस्य, दुर्गा मंदिर,दुनिया के,इतिहास भारत
mm
Written by Shweta Singh

ईश्वर के प्रति सबकी आस्था होती है. हम सब उनके दर्शनार्थ मंदिर भी जाते हैं. मैं जब भी अपनी बेटी के साथ मंदिर जाती हूँ वो पहले प्रसाद की दूकान पर रुख करती है और अपनी पसंद का प्रसाद ढूंढती है. मेरी बेटी अक्सर मुझसे कहती है की मम्मा अगर प्रसाद में टॉफी या चोकलेट मिले तो कितना अच्छा हो… आप सब सोच रहे होंगे कि मैं यह सब आपसे क्यूँ कह रहीं हूँ. जी दरअसल मुझे ऐसा लगता है कि ईश्वर ने मेरी बेटी की दिल की बात सुन ली. दरअसल भारत में एक ऐसा मंदिर है जिसमे प्रसाद के स्वरुप में लड्डू, पैदा, या बताशे नहीं बल्कि बर्गर, ब्राउनी या सैंडविच दिए जाते हैं.

कहाँ है यह मंदिर

चेन्नई के पडप्पई में जय दुर्गा पीठं मंदिर स्थित है. इस मंदिर में लोगों को प्रसाद के रूप में ब्राउनीज़, बर्गर, सैंडविच और साथ में चेरी टमाटर का सलाद भी दिया जाता है. ख़बरों की माने तो मंदिर का यह प्रसाद अच्छी तरह जाँच परख कर वितरित किया जाता है. यह प्रसाद एफ.एस.एस.ए.आई से प्रमाणित है और इस पर एक्सपायरी डेट भी लिखी होती है.

मेन्यु ही नहीं मंदिर भी है आधुनिक

इस मंदिर के मेन्यु में ही नहीं मंदिर के अन्दर भी आधुनिकता के दर्शन हो जाते हैं. मेट्रो स्टेशन्स की तरह यहाँ भी वेंडिंग मशीन नज़र आती हैं. पर उसमे से पैसे डालने से टोकन नहीं बल्कि टोकन डालने से प्रसाद निकलता है.

ऐसे प्रसाद वितरण का क्या है उद्देश्य  

मंदिर की स्थापना करने वाले हर्बल ओन्कोलोजिस्ट के. श्री श्रीधर हैं.  वह बताते हैं कि इस प्रसाद का उद्देश्य और कुछ नहीं सिर्फ इतना है कि पवित्र भाव से पवित्र रसोई में निर्मित कोई भी भोजन आप भगवन को प्रसाद स्वरुप भोग लगा सकते हैं. और इसी वजह से यह मंदिर सिर्फ वहां के स्थानीय लोगों में नहीं बल्कि विदेशी सैलानियों के बीच भी आकर्षण का केंद्र है.

ये भी पढ़ें :-

न आकार न प्रकार ऐसा है महादेव के चमत्कारों का संसार

बर्थडे केक प्रसादम की शुरुआत

जय दुर्गा पीठम मंदिर के अधिकारियों मे ‘बर्थडे केक प्रसादम’ की भी शुरुआत की है. इस प्रसाद का मतलब है भक्तों के जन्मदिन पर प्रसाद के रूप में केक उन्हें प्रसाद में दिया जाता है. श्रीधर ने बताया कि रिकॉर्ड के तौर पर मंदिर में आने वाले भक्तों का पता और जन्मदिन की तारीख लिखी जाती है जिससे उन्हें बर्थडे केक प्रसादम के निर्माण में कोई समस्या न आये.

आप लोग अभी तक सोच रहे हैं. बच्चों की छुट्टियाँ शुरू होने वाली है. अगर इस बार कहीं घूमने का प्लान कर रहे हैं तो एक बार चेन्नई के इस मंदिर में दर्शन ज़रूर करें. हाँ इश्वर भक्ति के साथ आपका उद्देश्य अनोखे प्रसाद का सेवन करना भी हो सकता है.

About the author

mm

Shweta Singh

Leave a Comment