Behind News

अब भुगतान के लिए अंगूठा ही काफी है 

mm
Written by Shweta Singh

एक समय अंगूठा लगाना अनपढ़ होने की निशानी माना जाता था लेकिन आज के दौर में यह डिजिटाईज़ेशन की निशानी माना जाता है. जी हाँ बिलकुल सही सुना आपने. अब आप अंगूठा लगाते ही रुपयों का आदान प्रदान कर सकेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती पर नागपुर में आधार पे सिस्टम की शुरुआत की. बस अंगूठे और आधार के जरिए भुगतान करने का यह सिस्टम ग्रामीण इलाकों में भी सफल हो सकता है. व्यापारी और ग्राहक आसानी से इसका इस्तेमाल कर सकते हैं.
इससे पहले सरकार ने 30 दिसंबर को मोबाइल पेमेंट ऐप्लिकेशन ‘भीम’ (भारत इंटरफेस फॉर मनी) लॉन्च किया था.

क्या है इसकी ख़ास बातें

  • भीम ऐप की सबसे बड़ी बात यह है कि इसके जरिए इंटरनेट के बिना भी पेमेंट किया जा सकता है.हालांकि इसमें ग्राहकों के पास फोन होना जरूरी है.
  • नया ऐप व्यापारियों के लिए बनाया गया है, जिससे वे ग्राहकों से डिजिटल भुगतान प्राप्त कर सकते हैं.
  • भीम ऐप से किसी दूसरे को सफलतापूर्वक जोड़ने वाले शख्स को 10 रुपये मिलेंगे. यह ही रेफरेल बोनस योजना है जिसके तहत भीम ऐप यूजर किसी दूसरे स्मार्टफोन उपयोक्ता को इस सुविधा से जोड़ सकता है और एक निश्चित रकम कमा सकता है.
  • समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, प्रधानमंत्री ने कहा कि यदि आप किसी को भीम ऐप से जोड़ते हैं और वह व्यक्ति तीन ट्रांजैक्शन करता है तो आपको 10 रुपये मिलेंगे. यह स्कीम 14 अक्टूबर तक जारी रहेगी.
  • प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अगले दो हफ्ते में इस पर और काम कर लिया जाएगा जिसेस भीम ऐप और शक्तिशाली बनकर उभरेगा.
  • नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के अनुसार इसे इस प्रकार बनाया गया है कि आप अपनी उंगलियों के निशान को वेरिफाई करके पैसा निकाल सकते हैं.
  • प्रधानमंत्री मोदी के अनुसार भीम-आधार ऐप दुनिया में अपनी किस्‍म का अनोखा है. यहां तक कि दुनिया के सबसे आधुनिक देशों में भी इस प्रकार की कोई प्रणाली है.
  • पीएम मोदी कहते हैं कि हर देशइस प्रकार के सिस्टम को ज़रूर अपनाना चाहेगा. हम इस मामले में अग्रणी हैं.
  • दरअसल इससे देश के प्रत्येक नागरिक व्यापारियों के बायोमेट्रिक युक्त उपकरण पर अंगूठे का निशान जैसे अपने बोयोमेट्रिक आंकड़े का उपयोग कर भुगतान कर सकेंगे. यह उपकरण बायोमेट्रिक जानकारी पढ़ने वाला स्मार्टफोन भी हो सकता है.
  • नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया(एनपीसीआई) के एमडी और सीईओ ए.पी. होता ने कहा कि आज की तारीख में भीम आधार से 30 बैंक से अधिक जुड़ चुके हैं और जल्द ही और बैंक भी इससे जुड़ेंगे.
  • एनपीसीआई के मुताबिक, 27 बड़े बैंक तीन लाख व्यापारियों के साथ पहले ही इससे जुड़ चुके हैं. अत: वे भीम आधार का उपयोग भुगतान स्वीकार करना शुरू कर सकते हैं.

About the author

mm

Shweta Singh

Leave a Comment