अब गाड़ियां नहीं, सड़कें बजाएंगी हॉर्न

आपने कई ट्रकों पर हॉर्न प्लीज लिखा हुआ पढा होगा. इसका मतलब होता है कि ट्रक ड्राइवर पीछे वाले वाहन से हॉर्न बजाने की गुजारिश करता है. लेकिन अब ऐसा नहीं होगा क्योंकि जमाना बदल गया है. हॉर्न को लेकर नई तकनीक आई है.

क्या है नयी तकनीक

नई तकनीक के तहत अब गाडियां नहीं सडकें खुद ही हॉर्न बजाएंगी. जी हां, हाइवे पर सुरक्षा बढाने के लिए एचपी लुब्रिकैंट्स और लियो बर्निट ने करार किया है. दोनों मिलकर एक ऐसा सिस्टम डिवेलप किया है जिसमें सडकें खुद ही हॉर्न बजाएंगी.

क्या है स्मार्टलाइफ पोल्स

आपको यह जानकर ताज्जुब होगा कि इस सिस्टम को सफलतापूर्वक जम्मू और श्रीनगर को जोड़ने वाले हाइवे एनएच-१ पर टेस्ट भी किया जा चुका है. इस हाइवे को सबसे खतरनाक सड़कों वाला हाइवे भी माना जाता है. सड़कों के टर्न के आस-पास स्मार्टलाइफ पोल्स लगाए जाते हैं. ये पोल बिना तार के एक-दूसरे से कनेक्ट रहते हैं. जब भी ट्रैफिक इधर से उधर होता है, तो इन पोल्स के पास अलर्ट पहुंच जाता है.

कैसे करते हैं यह पोल्स काम

ये पोल्स वाहन की रफ्तार भांप लेते हैं व ड्राइवर को हॉर्न के जरिए अलर्ट करने लगते हैं. स्थानीय पुलिस के अनुसार इस सिस्टम के लग जाने के बाद सड़क हादसों में कमी आई है. कंपनियां अब इस सिस्टम पर बारीकी से अध्ययन कर रही हैं और अन्य जगहों पर लगाने के लिए भी विचार कर रही हैं.

Leave a Reply