People

सबसे ऊंची शिव प्रतिमा ने बनाया विश्व रिकॉर्ड 

mm
Written by Shweta Singh

 

तमिलनाडु के कोयंबटूर में विश्‍व की सबसे ऊंची भगवान शिव की प्रतिमा को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड्स में स्थान मिला है. आपको सभी को मालूम होगा की इस मंदिर की प्रतिमा का अनावरण प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के कर कमलों से हुआ था.

१४७ फुट लंबी है शिव की प्रतिमा

ईशा योग फाउंडेशन द्वारा तमिलनाडु के कोयंबटूर में आदियोगी शिव की एक सौ बारह फुट की आवक्ष प्रतिमा को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने दुनिया की सबसे बड़ी आवक्ष प्रतिमा के रूप में दर्ज किया है. गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने इसकी घोषणा अपनी वेबसाइट पर की है. पीएम मोदी ने चौबीस फरवरी को ईशा योग फाउंडेशन की शिव प्रतिमा का अनावरण किया था. भगवान शिव की यह प्रतिमा ११२.४ फीट उंची, २४.९९ मीटर चौड़ी और १४७ फुट लंबी है.

यह भी पढ़ें- यहां सच में पेड़ पर उगते हैं पैसे

500 टन है प्रतिमा का वजन

यह प्रतिमा मुक्ति का प्रतीक है. यह उन ११२ मार्गों को दर्शाता है जिनसे इंसान योग विज्ञान के जरिए अपनी परम प्रकृति को प्राप्त कर सकता है. भगवान शिव के चेहरे के डिजाइन को तैयार करने में ढाई साल लगे. ईशा फाउंडेशन की टीम ने इसे आठ महीने में पूरा किया. इस प्रतिमा को स्टील से बनाया गया है. धातु के टुकड़ों को जोड़कर इसे तैयार किया गया है. भगवान शिव प्रतिमा का वजन ५०० टन है.

नंदी को खास तरीके से किया गया है तैयार

शिव की सवारी नंदी बैल को भी बड़े खास तरीके से तैयार किया गया है. धातु के छह से नौ इंच बड़े टुकड़ों को जोड़कर नंदी का ऊपरी हिस्सा तैयार किया गया है. इसके अंदर तिल के बीज, हल्दी, पवित्र भस्म, विभूति, कुछ खास तरह के तेल, थोड़ी रेत, कुछ अलग तरह की मिट्टी भरी गई है. प्रतिमा के अंदर बीस टन सामग्री भरी गई है. फिर उसे सील कर दिया गया.

About the author

mm

Shweta Singh

Leave a Comment