इस मंदिर में होती है मुस्लिम महिला की पूजा 

आज जी दौर में हम रह रहे हैं उसमे धर्म के नाम पर लोग राजनीतिक रोटियां सेंकने का काम करते हैं. लेकिन आज भी कई स्थान ऐसे हैं जहां धर्म को एक तरफ  रखकर हिन्दू मुस्लिम एकता की मिसालें पेश करते हैं. आज हम आपको ऐसे ही एक गांव के बारे में बताने जा रहे हैं जो हिन्दू मुस्लिम एकता की अनूठी मिसाल है.

कहां है यह गांव

यह गांव गुजरात के अहमदाबाद से करीब चालीस किमी दूर है. इस गांव का नाम झूलासन है. इस गांव को हम हिन्दू मुस्लिम एकता की अनूठी मिसाल इसलिए कह रहे हैं क्योंकि यहां एक मंदिर में मुस्लिम महिला की पूजा की जाती है.

क्या है मान्यता

ऐसा माना जाता है कि सैंकड़ो साल पहले डोला नाम की एक मुस्लिम महिला ने उपद्रवियों से अपने गांव को बचाने के लिए बड़े साहसपूर्ण तरीके से उनका विद्रोह किया और गांव की रक्षा करते करते डोला ने अपनी जान दे दी. कहा जाता है कि मरने के बाद डोला का शरीर एक फूल में बदल गया था और बलिदान के चलते लोगों ने फूल के ऊपर ही मंदिर बनवा दिया.

ये भी पढ़ें- अनोखा मंदिर जहां मूर्तियां करती हैं बातें

डॉलर माता के नाम से भी प्रसिद्ध है यह मंदिर

गांव के लोग आज भी मानते हैं कि डोला आज भी न सिर्फ उनके गांव की रक्षा कर रही है बल्कि लोगों के दुख और दर्द को भी दूर करती है. इस मंदिर को डॉलर माता मंदिर के नाम से भी जानते है. क्योकि इस गांव में पंद्रह सौ से अधिक लोग अमेरिकी है. आपको बता दें कि सुनीता विलियम्स जब अंतरिक्ष यात्रा पर गई थी तब इस मंदिर में एक अखंड ज्योति जलाई गयी थी जो लगातार चार महीने तक जलती रही थी.

Leave a Reply