यह विमान बदलेगा स्पेस मिशन का भविष्य 

आपने अभी तक न जाने कितने विमान देखे होंगे लेकिन अब दुनिया में एक ऐसा विमान आया है जिसके बारे में किसी ने नहीं सोचा होगा. माइक्रोसॉफ्ट के सहसंस्थापक पॉल एलन ने ऐसा विमान बनाकर दुनिया को हैरत में डाल दिया है.

क्या है इसका मूल उद्देश्य

इसका मूल उद्देश्य धरती से पैंतीस हजार फीट की ऊंचाई पर सैटलाइट ले जाकर स्पेस में लॉन्च करना है. इससे ईंधन का खर्च तो बचेगा ही, सैटलाइट या स्पेस मिशन को ज्यादा दूरी के लिए भी भेजा जा सकेगा. ऐलन ने इसे ‘C नाम दिया है. इस विमान को पॉल एलन की एयरोस्पेस फर्म तैयार कर रही है. माइक्रोसॉफ्ट के सह संस्थापक पॉल एलेन पिछले तीन साल से एक अत्याधुनिक प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं. गुरुवार को पहली बार यह दुनिया के सामने आया. इसकी दौरान इसमें लगे सभी अट्ठाईस पहियों की टेस्टिंग की गई. इस दौरान इंजन भी चालू करके देखा गया.

स्‍पेस मिशन में भी कामयाब रहेगा यह विमान

यह विमान दो हिस्‍सों में बंटा है. इस विमान का बीच वाला हिस्‍सा स्‍पेस मिशन के लिए रॉकेट लॉन्चिंग के लिए इस्‍तेमाल में लाया जा सकेगा. कंपनी की तैयारी इस विमान से एक स्‍मॉल सैटेलाइट लॉन्च करने की है. इसके लिए कंपनी ने एक डील भी साइन भी की है. इसके डील के अंतर्गत इस विमान के माध्‍यम से सैटेलाइट को लॉन्‍च करने के लिए एक तय ऊंचाई तक एक रॉकेट के जरिए ले जाया जाएगा. इसके बाद इसको चरणबद्ध तरीके से इसको लॉन्‍च किया जाएगा. ये तरीका काफी सस्ता, सटीक और तेज रफ्तार साबित होगा. अब तक पारंपरिक तौर पर सैटेलाइट लॉन्चिंगपैड से लॉन्च किए जाते हैं, जिसमें काफी मात्रा में फ्यूल लगता है. यदि एलन की कंपनी अपने मिशन में सफल हुई तो यह वास्‍तव में बड़ा बदलाव साबित होगा.

यह भी पढ़ें –अब गाड़ियां नहीं, सड़कें बजाएंगी हॉर्न

क्या खासियत है इस विमान में

२०११ में शुरुआती तौर पर इसकी अनुमानित लागत ३०० मिलियन डॉलर बताई गई थी. इस विमान में बोईंग ७४७ के छह इंजन हैं. इसके अलावा दो कॉकपिट हैं. कैलिफोर्निया के मोजेव के हैंगर में पहली बार इसको कल निकाला गया. इस विमान के पंख किसी फुटबॉल के मैदान से भी बड़े हैं. इस विमान में २८ पहिएं हैं. इस विमान की ऊंचाई पचास फीट है. इसके पंखों की लंबाई ३८५ फीट है. यह विमान होवर्ड ह्यूजेस के H-फोर हर्क्युलिस और सोवियन दौर के कार्गो प्लेन एन्टोनोव एन-२२५ से भी बड़ा है. इसका वजन ही सवा दो लाख किलो है. यह विमान १.३ मिलियन पाउंड तक वजन के साथ उड़ान भर सकता है. इस विमान की अधिकतम ईंधन क्षमता १.३ मिलियन पाउंड है. इस विमान का मिशन रेंज एक हज़ार नॉटिकल मील है. यह विमान १३,५०० पाउंड के सैटेलाइट को अर्थ के लॉवर आर्बिट में छोड़ सकता है. इतना ही नहीं यह प्लेन अगले मिशन के लिए वापस आ सकता है.

2 thoughts on “यह विमान बदलेगा स्पेस मिशन का भविष्य ”

  1. सबसे बड़ी बात पॉल ने इसे बनाने से पहले किसी को नही बताया था और जब लोगों को रातो-रात इसका पता चला तो यह काफ़ी चौकाने वाली बात थी.

Leave a Reply