ऐसी उँगलियों के साथ इस घर में पैदा होते हैं लोग

केरल के अलपुजा जिले में एक परिवार ऐसा है, जहां पिछले नब्बे साल से अजीबोगरीब उंगलियों के साथ लोग पैदा हो रहे हैं. इस परिवार का नाम है कन्नट्ठु, जिसके एक सौ चालीस सदस्यों की हाथों और पैरों की अंगुली एक साथ जुड़ी हुई हैं. हालांकि, इसका इलाज संभव है, लेकिन परिवार के लोग उसे अलग नहीं करवाना चाहते.

क्या है ये पूरा मामला

कवुंकल गांव में रहने वाले इस कन्नट्ठु परिवार की पिछले दो पीढ़ियों के 140 सदस्यों की हाथों और पैरों की उंगलियां एकसाथ जुड़ी हुई है. डॉक्टर्स और लोगों का कहना कि ऑपरेशन करके इसे अलग करवाया जा सकता है. लेकिन परिवार के लोग ऐसा करने से मना करते हैं. दरअसल, परिवार के सदस्यों का मानना है कि उनकी जुड़ी हुई उंगलियां भगवान का अभिशाप है और हम इससे कोई छेड़छाड़ नहीं करना चाहते हैं.
क्या कहना है परिवार के सदस्यों का

परिवार के सबसे बुजुर्ग (85 साल) सदस्य का कहना है कि हाल ही मेरे यहां एक बच्चे का जन्म हुआ, उसकी भी उंगलियां जुड़ी हुई है. वहीं, परिवार के 70 साल की महिला सरसु कन्नथु का कहना है कि इन उंगलियों की वजह से हमें नॉर्मल लाइफ जीने में कोई समस्या नहीं है और रोजमर्रा का काम भी हम बड़ी ही आसानी से कर लेते हैं. वहीं, परिवार के एक अन्य सदस्य लक्ष्मी का कहना है कि हमें खाना बनाने, सब्जी काटने और कपड़े धोने में इन उंगलियों की वजह से कभी कोई दिक्कत नहीं हुई है.
परिवार के सदस्यों का मानना है कि भविष्य में भी हमारे बच्चे ऐसी ही उंगलियों के साथ जन्म लेंगे. लेकिन हम इससे शर्मिंदा नहीं हैं बल्कि गर्व महसूस करते हैं क्योंकि अब हम इसे भगवान का आशीर्वाद मानते हैं. वहीं, जब लोग इनसे इनकी इस समस्या के बारे में चर्चा करते हैं तो उनका जवाब सुनकर लोग हैरत में पड़ जाते हैं. परिवार के 66 वर्षीय सदस्य केएम भार्गवन का कहना है कि उनके दादाजी का पड़ोस में रहने वाले एक ईसाई परिवार के साथ प्रॉपर्टी को लेकर झगड़ा हुआ था. इसके बाद उस परिवार ने हमारी वाटिका से एक एक पेड़ काट लिया था. जिसके बाद से परिवार में सटी उंगलियों के साथ बच्चे पैदा होते हैं. परिवार की 65 वर्षीय बुजुर्ग जगदम्मा कहती हैं कि जुड़ी उंगलियों वाले हाथ सांप के फन जैसे लगते हैं. हमारे पुश्तैनी घर में एक वाटिका है जहां हम सांपों की पूजा करते हैं. हम इसे उन्हीं का आशीर्वाद मानते हैं.

Leave a Reply