यहां लाशों वाला पानी पीते हैं लोग

आज के तकनीकी युग में जहां पानी को फिल्टर करने के लिए लोग मशीनों की सहायता लेते हैं, वहीं  अपने ही देश में एक जगह ऐसी भी है जहां के निवासी मशीन से नहीं, बल्कि लाशों द्वारा फिल्टर किया हुआ पानी पीते हैं. आपको सुनने में बहुत ही अजीब लग रहा होगा लेकिन यह स्थान अपने ही देश में मौजूद है, आप यह भी सोच रहें होंगे कि आखिर इस स्थान के लोग ऐसा करते क्यों है, तो चलिए ले चलते हैं आज आपको इस गांव में.

कहां है यह गांव

इस गांव का नाम राजघाट है और यह राजस्थान के धौलपुर से कुछ किलोमीटर दूरी पर स्थित है. इस गांव की स्थिति काफी दयनीय है. इस गांव में आपको मोबाइल तथा टीवी तो मिलेंगे पर बिजली नहीं मिल पाएंगी, दूसरी ओर यहां के लोगों का कहना है कि सड़कें तो उन्होंने सिर्फ शहर में ही देखी हैं यानि इस गांव में सड़कों का भी आभाव है.

पानी के लिए हैं नदी पर आश्रित

जहां तक पानी की बात है तो यहां के लोग गांव के करीब बहाने वाली चम्बल नदी पर ही आश्रित हैं, पर गांव वालों का कहना है कि नदी से पीने का पानी लेने के लिए उनको नदी में बहकर आई लाशों को एक ओर करना पड़ता है उसके बाद ही वे यहां से पानी भर पाते हैं. गांव के लोगों का कहना है कि इस नदी में मगरमच्छ भी नजर आते हैं और कई बार वे पानी भरने आने वाले लोगों को अपना निवाला बना लेते हैं.

पानी सबसे बड़ी समस्या

गांव के लोगों का कहना यह भी है कि यहां पर बहुत सी समस्याएं हैं, इसलिए कोई भी अपनी बेटी को इस गांव में ब्याहाने को तैयार नहीं होता, पिछले बीस वर्षों में इस गांव में सिर्फ दो ही शादी हुई हैं. इस प्रकार से अनेक समस्याओं के होते हुए लोग इस गांव में लोग पानी को भी तरस रहें हैं तथा उनको लाशों के बीच से पीने का पानी लाना पड़ रहा है.

Leave a Reply