150 फीट गहरी पातालगंगा, रहस्यमयी तरीके से हो जाती है गुम

हमारे भारत में ऐसी कई गुफाएं है जो काफी रहस्यमयी होने के कारण चर्चा का विषय बनी हुई है, उन्हीं में से एक है आंध्रप्रदेश की ऐसी गुफा, जिसके बारे में जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान. यूं तो आपने हर गुफाओं को पहाड़ों पर ही देखा होगा, पर ये गुफा अन्य गुफाओं से अलग है. ये गुफा एक खुले मैदान जैसे खेत के नीचे बनी हुई है, बताया जाता है कि इस रहस्यमयी गुफा के नीचे से पातालगंगा बहती है. हैरानी की बात यह है कि इसके पानी के बारे में आज तक कोई नहीं समझ पाया है कि ये आता कहां से है और कहां चला जाता है.

कहां है ये पातालगंगा
आंध्रप्रदेश के कुरनूल से करीब 106 किलोमीटर की दूरी पर स्थित बेलम गुफा की खोज सबसे पहले ब्रिटिश सर्वेयर रॉबर्ट ब्रूस फुटे ने 1884 में ने की थी. यह गुफा के बारे में कहा जाता है कि अब तक की मिली गुफाओं में ये सबसे बड़ी है. इसकी लंबाई 3229 मीटर लंबी है. गुफा के अंदर प्रवेश करने से ठीक 150 फीट नीचे ही बहती है पातलगंगा. इस गुफा के ऊपरी भाग से नीचे तक कुएं के समान तीन बड़े छेद बने हैं. जिसमें से बीच वाले भाग का उपयोग आने जाने के लिए किया जाने लगा है. इन गुफाओं में मिले जैन और बौद्ध भिक्षुओं के रहने के अवशेष काफी पुरानी गाथाओं की याद दिलाते है. जिससे इसका महत्व और अधिक बढ़ गया है. बताया जाता है कि प्राचीन समय में इस गुफा का इस्तेमाल बौद्ध भिक्षु लोग अपने ध्यान को केंद्र करने के लिए किया करते थे.

Leave a Reply