इतने डॉलर में नीलाम हुआ हिटलर का फ़ोन 

अमेरिका में एक नीलामी के दौरान एडोल्फ हिटलर का निजी टेलीफोन नीलाम हुआ. दूसरे विश्व युद्ध के दौरान हिटलर ने इसी टेलीफोन के जरिये कई आदेश दिए थे. बैकेलाइट से बने, काले रंग के इस टेलीफोन को बाद में गहरे लाल रंग से पेंट किया गया था और इस पर हिटलर लिख दिया गया था. हिटलर के फोन की नीलामी करा रहे नीलामीघर एलेक्जेंडर हिस्टोरिकल ऑक्शन्स ने कहा है कि यह नीलामी मेरीलैंड की चेस्पीक सिटी में हुई.

कितने में नीलाम हुआ फ़ोन

टेलीफोन को नीलाम करने वाले अलेक्जेंडर हिस्टोरिकल ऑक्शन ने फोन खरीदने वाले नाम को उजागर नहीं किया है. लेकिन इसकी कीमत दो लाख डॉलर से लेकर तीन लाख डॉलर के बीच रहने का अनुमान था. टेलीफोन की नीलामी के लिए शुरुआती बोली 1 लाख डॉलर रखी गयी थी. जो जाकर 243,000 डॉलर पर जाकर रुकी.

अन्य चीज़ों की भी हुयी नीलामी

मैरीलैंड की कंपनी ने टेलीफोन समेत करीब हजारों चीजों की नीलामी की. इनमें चीनी मिट्टी से बने अल्सेशियन कुत्ते का एक शिल्प भी शामिल है जो 24,300 डॉलर में नीलाम हुआ. दोनों विजेताओं ने टेलीफोन के जरिये ही बोली लगाई. गहरे लाल रंग का यह फोन काफी खराब हालत में हैं. लेकिन इसके बावजूद इस पर खुदा हिटलर का नाम और स्वास्तिक का निशान साफ दिखाई दे रहा है.

बंकर से बरामद हुआ था फोन
बताया जा रहा है कि यह फोन बर्लिन में मौजूद हिटलर के बंकर से 1945 में सोवियत संघ के सैनिकों को मिला था. सैनिकों ने इसे ब्रिगेडियर सर राल्फ को सौंप दिया था. उन्होंने इसे अपने पास संभालकर रख लिया. सर राल्फ के बेटे ने इसे बेचने की इच्छा जाहिर कर दी है.

एक अधिकारी ने बताया कि हिटलर ने द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान इस फोन को ‘नरसंहार के हथियार’ के रूप में इस्तेमाल किया था. अधिकारी ने बताया कि युद्ध में हिटलर इसी फोन से अपने सैनिकों को लोगों को मौत के घाट उतारने का आदेश देता था. यह फोन उनके साथ ही रहता था.

 

Leave a Reply