इस होटल में मरने के बाद आते हैं लोग

देखा जाए तो जापान एक ऐसा देश है जहां पर सभ्य और मेहनतकश लोग रहते हैं, पर वहां की मृत्युदर की यदि गणना की जाए तो करीब 16 लाख लोग वहां प्रतिवर्ष मरते हैं और यही कारण है कि लोगों की मृत्यु अब जापान में एक कारोबार में तब्दील होती जा रही है.

कहां है यह होटल

बिजनेसमैन हिसायोशी टेरामुरा, जापान के योकोहामा के रहने वाले हैं और उन्होंने एक ऐसा होटल खोलने का फैसला किया है जहां पर सिर्फ मरे हुए लोगों की ही बुकिंग हो सके. उनके होटल लास्टेल में एक मृत व्यक्ति के शरीर को एक दिन रखने का बिल 12000 येन है. हिसायोशी टेरामुरा का बिजनेस पहले से ही कब्रो और शव गृह का है और पिछले साल उन्होंने अपने इस होटल को एक नूडल शॉप के सामने खोला था जिसमें सिर्फ मुर्दे ठहराए जाते हैं.

क्या है ऐसा होटल खोलने का कारण
जापान की मृत्यु दर में तेजी पहले से ही रही है और इसी कारण यहां के शमशान अक्सर लोगों से भरे होते है. इसी कारण कुछ मृतक के परिवारों को अंतिम संस्कार के लिए इंतजार करना होता है और यह इंतजार 4 से 5 दिन लंबा भी हो सकता है. इस प्रकार की परिस्थिति बनने पर मृतक के परिवार वाले अपने मृत व्यक्ति की बॉडी को मुर्दा लोगों के लिए बने इन होटलों में रख सकते हैं और शव को सड़ने से बचा सकते हैं, इसके अलावा यदि किसी के घर में जगह की कमी है तो भी लोग मृतक को इन होटलों में बुक करा देते हैं.

साफ सुथरा है यह होटल

इन होटलों में ऑटोमेटेड स्टोरेज सिस्टम होता है जसके कारण यहां पर शव सड़ता नहीं है. ये होटल आम होटलों की तरह ही साफ सुथरे और सजे हुए होते हैं, इनमें परिजन अपने मृतक व्यक्ति को श्रद्धांजलि भी दे सकते हैं.

Leave a Reply