कहीं बहता है ख़ून का झरना तो कहीं रात भर चमकती है बिजली